Water Pollution In Hindi|Water Pollution Cause & Solution

Water Pollution In Hindi | जल प्रदुषण क्या है? | Jal Pradushan Kya Hai 

इस दुनिया में इंसान और सभी प्रकार के जीवों के लिए सबसे जरूरी कोई चीज है, तो वो है स्वच्छ जल की जरूरत। जल के बिना कोई भी जीव जिवित नहीं रह सकता है। जल का उपयोग हम कई जरुरी चीजों के लिए करते है जैसे – पीने के लिए , नहाने – धोने के लिए ,खेती -बाड़ी के लिए और अन्य जरूरी कार्यों के लिए उपयोग करते है। लेकिन अब ये जल दूषित हो रहे है। जिसके लिए हम इंसान दोषी है। 

Water Pollution In Hindi Watch Video

Information about water pollution in Hindi | About water Pollution in Hindi essay

आज हम इस पोस्ट में (Water Pollution in Hindi ) जल प्रदुषण क्या है? और इसके क्या कारक,स्रोत है। इस जल प्रदूषण की समयस्या से कैसे निदान पा सकते है? जैसे कुछ जरूरी बातों को जानेगे। वो भी बिलकुल आसान भाषा में तो आईये शुरू करते है। 

 जल प्रदुषण क्या है? ( What is Water Pollution in Hindi?)

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution

What is water pollution in hindi  जल प्रदुषण तब होता है जब इंसान अपने कार्यकलापों से जल को प्रदूषित करता है। इंसान जल को प्रदूषित करने में बहुत अहम् भूमिका निभा रहा है,  इंसान अपने द्वारा निर्मित कूड़ों या कारखानों से निकले रासायनिक प्रदार्थों को  नदियों, नहरों, झीलों, तालाबों में बहा कर प्रदूषित करते हैं। 

भारत की प्रमुख नदीयां जैसे गंगा, ब्रह्मपुत्र, सिंधु, प्रायद्वीपीय, और पश्चिमी तट नदी काफी हद तक प्रभावित हो चुकी हैं।

इस प्रकार इंसान प्रदूषित पानी को उपभोग के लिए बेकार और हानिकारक बना देता है। जल प्रदूषण पिछले कुछ दशकों में बहुत तेजी बढ़ रह है इसमें जनसंख्या का बहुत बड़ा भाग है।

जिस तरह से जनसंख्या बढ़ रही था लोगो की जरूरतें बढ़ रही है और स्वच्छ जल की कमी का सामना करना पड़ रहा। दुनिया में कई देश ऐसे है जीने मजबूरी में गंदे पानी को पीना पड़ रहा है, जिस कारण लाखों लोगो की बीमारियों से मौत हो रही है।

जल प्रदुषण के क्या कारण है? (Reason / Causes of water Pollution In Hindi?)

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution

 

आपके मन सवाल उठ रहा होगा की आखिर ऐसे क्या कारण है जिनसे जल प्रदूषित होता है। आईये जानते है की (Causes of water pollution in hindi) जल प्रदुषण दो प्रकार से होता है एक तो प्राकृतिक द्वारा और दूसरा मानवीय द्वारा। 

जल प्रदुषण का प्राकृतिक कारण (Natural Reasons for Water Pollution)

प्राकृतिक जल प्रदुषण भूमिगत जल मे होता है, जिसमे अकार्बनिक तत्वों की अत्यधिक मात्र जैसे मेंग्निज़, फ्लोरइड, लोह, जैसे तत्व होने के कारण जल को रंग, गंध, धुंधलापन, खरापन प्रदान करते है। इस प्रकार के प्रदुषण से मानव को बहुत नुकशान पहुंच सकता है।

जल मे फ्लोराइड की अत्यधिकता होने से इंसान के दाँत और हड्डियों को भारी नुकशान पहुंच सकता है।

ये समस्या गाँव मे रहने वाले लोगो को अक्सर होती है जहाँ भूमिगत जल का ज़्यदा प्रयोग होता है।

लोह तत्व भी बहुत ख़तरनाक तत्व है यदि वह पानी मे मिल जाये तो इंसान को नुकसान पंहुचा सकती है। लौह के अधिकता होने पर जल का रंग लाल हो जाता है।

जल मे प्राकृतिक लवण जैसे सोडियम, कैल्शियम, पोतेशियम, करबोनेट, बिकार्बोनेट और सालफेट होते है। यदि इन लवणों की अधिकता निश्चित माप से ज़्यदा हो जाती है तो वो जल किसी जहर से कम नहीं होता है।

गावों मे आज भी लोग कुएँ तथा बोरिबेल का उपयोग करते है। जिनसे अनोक बीमारियों से लोग ग्रसित रहते है।

 

इसे भी पढ़े – 

Dream11 kya hai ?

Good Worker (Pravasi Rojgar) Kya Hai?

Sonu Sood Biography

 

जल प्रदुषण का मानवीय कारण (Human Reason for Water Pollution)

(Water Pollution In Hindi) मानव एक ऐसा प्राणी है जो बहुत कम समय मे विकसित हो रहा है किन्तु इस विकास की होर मे इस दुनिया को ही बर्बाद कर रहा है। औद्योगिक युग के बाद से ही बहुत सारी फैक्ट्रीया बनायीं जाने लगी और उन कारखानों से निकलने वाले विसैले प्रदार्थो को नदीयों मे बहाया जाने लगा।

 

मल मूत्र का जल मे बहाव (Sewage flow in Water)

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
 

दुनिया मे जल प्रदुषण का सबसे बड़ा कारक है मल मूत्र का नदीयों मे बहाना। इंसान के मल मे वैक्टिरिया पाया जाता है जो की जल के साथ घुल जाने पर जल को दूषित करता है। यदि इंसान चाहे तो मल को प्राकृतिक तरीके से डिकम्पोज़ कर सकता है।

घरेलु कचरों द्वारा (By Domestic Waste)

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution

 मानव द्वारा जल प्रदुषण मे उनके घरों से निकलने वाले कुड़ों का बहुत बड़ा योगदान है। बढ़ती हुई जनसंख्या और बढ़ते हुए नगरो से निकलने वाले कुड़ों जैसे – सड़े गले खाद्य प्रदार्थ, प्लास्टिक और कूड़ा करकट इत्यादि। इसके अलाबा नहाने धोने का साबुन जिससे निकल निकल रसायन नालों के जरिये नदियों मे आ जाते है जिससे जल प्रदूषित होता है।

औद्योगिक प्रदुषण (Industrial Pollution)

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution

 इस प्रदुषण के कारण ही आज दुनिया स्वच्छ जल के लिए तरस रही है। पूरी दुनिया मे मौजूद पिने योग्य जल केवल 0.6 फीसदी ही बचा है।अब इतने बचे स्वच्छ जल पर भी खतरा मंडरा रहा है। 

Water Pollution In Hindi 

जल प्रदुषण (Water Pollution) मे औद्योगिक संस्थान का बहुत बड़ा हाथ है। औद्योगिक संस्थानों से निकलने वाले सैकड़ो टन विषैले प्रदार्थ (Toxic substance) को नदियों मे फेंका जाता है।

इन संस्थानों मे सबसे जायदा चमड़े, वस्त्र, पटसन और ऊन के कारखाने शामिल है। जिनसे सबसे ज़्यदा रसायन युक्त प्रदार्थ नदियों मे डाला जाता है।

 इसके अलावा चीनी कारखानों, शराब और कागज के कारखानों से निकलने वाले प्रदार्थ भी शामिल है।

इन विशैले प्रदार्थो के जल मे मिल जाने के कारण इससमे रहने वाले जीवो को बहुत हानि पहुंचती है।

खेती और पिने योग्य नदी जैसे गंगा, सरस्वती जैसी नदिया आज दूषित हो चुकी है।

 

तेल और पेट्रोलियम के कारण जल प्रदुषण: Water pollution due to oil and petrol

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution

 

आज के समय मे तेल और पेट्रोल की बढ़ती मांग ने जल प्रदूषण को बहुत बढ़ावा दिया है। कच्चे तेल या पेट्रोल को एक जगह से दूसरे जगह ले जाने मे 0.5 फीसदी तेल समुद्र मे गिर जाता है या किसी दुर्घटना के कारण जहाज पलट जाता है। तेल के गिरने से ये सतह पर आ जाता है जिससे समुद्री जीवों की मृत्यु हो जाती है।

जल प्रदुषण के लिए क़ृषि कारण: Agricultural Reasons for Water Pollution

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution | Agricultural reasons

 आज के समय मे लोगों ने अपना परम्परागात क़ृषि (Traditional farming) का तरीका छोड़ कर आधुनिक तरीके को अपना लिया है। खाद, यूरिया जैसे बहुत से रसायन का इस्तेमाल किसान करने लगे है। जिससे फसल तो बढ़ी है लेकिन जल प्रदूषित होने लगा है।

किसानो द्वारा उपयोग किया हुआ रसायन वर्षा के माध्यम से मिट्टी मे होते हुए भूमिगत हाल मे जाकर मिल जाता है और ये जल नदियों मे जा कर मिल जाता है।

तेजी से बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण जमीन कम पढ़ने लगी है जिसके कारण किसान अब नदियों, तालाबों और झीलों को भरकर अब उसपर खेती करने लगे है।

Hurun India Rich List 2021.

Hurun Global Rich List And Their Net Worth.

अस्पतालों द्वारा फेंका गया कचरा: Trash Thrown by Hospitals

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution | Hospital waste

 अस्पताल से निकले कुड़ों को नदियों मे फेंका जाता है, और इन कचरों मे बहुत से रसायन मौजूद होते है जो बहुत ख़तरनाक होते हैं। ये रसायन पानी मे मिलकर पानी को दूषित करते है।

मृत पशुओ के कारण जल प्रदुषण: Water pollution due to dead animals

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution | Dead animals

भारत जैसे देश मे जानवरो के मृत शव को नदियों मे वहां दिया जाता है। इसके साथ ही बुचर खाने मे उपयोग ना आने वाले पशुयों के अंगों को नदियों के पास फेंक दिया जाता है और ये बारिश के जरिये नदियों मे चले जाते है जिससे नदी दूषित हो जाता है।

जल प्रदूषण धार्मिक अनुष्ठान द्वारा: Water pollution by religious rituals

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution | religious rituals

भारत मे ये सबसे ज्यादा प्रचलित है गंगा जैसी नदियों मे लोग अपने पाप को कम करने और अन्य सभी धार्मिक कार्यों मे नदियों मे बहुत सी चीज़ों को बहाया जाता है। जिससे निदियों मे अत्यादिक कचरा जमा हो जाता है और जल दूषित होता है। इन नदियों में मूर्ति विसर्जन भी किया जाता है जिस कारण जल प्रदूषित हो रहा है। इसके साथ ही इंसान के शव को गंगा मे विसर्जित किया जाता है जिससे जल प्रदूषित होता है।

Water Pollution In Hindi

जल प्रदुषण का प्रभाव (Effect of water pollution in Hindi)

 

(About water pollution in hindi) जल ही जीवन है ये कहना गलत नहीं होगा क्योंकि जल के बिना दुनिया का कोई जीव जंतु जीवित नहीं रवह सकता।

जिस जल को हम इंसानों को संभाल कर रखना चाहिए उसकी तरफ कोई विशेष ध्यान नहीं दिया जाता।

जल के प्रदुषण से क्या क्या प्रभाव पड़ता है, ये जान लेना भि जरूरी है।

जल प्रदुषण से केवल इस प्रकृति को ही नहीं हम इंसानों पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।

मनुष्यों और जीव जंतुओ पर जल प्रदूषण का प्रभाव: Effect of water Pollution on Humans and Animals

 

जल जीवन का आधार है, जल के बिना कोई जीवित नहीं रह सकता। यदि जल सुध हो तो ये अमृत बन जाता है और यदि यही जल दूषित हो तो बिष भी बन जाता है।

WHO के अनुसार दुनिया मे 1 करोड़ से ज़्यदा लोग प्रदूषित पानी पिने से मर जाता है। WHO के अनुसार ज्यादातर मौतें अविकसित देशो मे होती है।

प्रदूषित जल पिने से अनेक बीमारिया हो सकती है। इनके अलावा इंसानों द्वारा किये गए कार्यों का बेजुवान जीवो को भी परेशानिया झेलनी पडती है।

इसे भी पढ़े – 

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है.

Top 12 Network Marketing Books in Hindi.

भारत के 10 सबसे बड़े मोटिवेशनल स्पीकर्स.

दुनिया के सबसे अमीर उद्यमी.

 

मानव स्वस्थ पर जल प्रदुषण का प्रभाव: Effect of water pollution on human health

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution | Effect of water pollution on human health

मानव स्वस्थ पर जल प्रदुषण का बहुत बीरा प्रभाव पड़ता है। मनुष्यों को अनेक जानलेवा बीमारी हो सकती है जिसमे बच पाना मुश्किल हो जाता है। खास कर अविकसित देश जहाँ लोगों को अस्पताल की मदद नहीं मिल पाती और सरकार भी कुछ नहीं कर पाती।

 

जल प्रदुषण से होने वाले रोग (Diseases caused by water Pollution in Hindi)

 

जल प्रदूषित होने से मनुष्यों को पीलिया, कैंसर जैसी कई तरह की बीमारियां हो सकती है –

 

जल मे मौजूद कैडमियम से – अतिसार वृद्धि रुक जाना, हड्डी का बनना रुक जाना, गुर्दा छत्तीग्रस्त होना,कैंसर का होना,तांत्रिकतंत्र का छत्तीग्रस्त होना आदि।

जल मौजूद ताम्बा (Copper) से – तनाव मे वृद्धि, बेहोसी और अधिक यूरिया का निर्माण होना।

 

जल मे मौजूद बेरियम (Barium) से – उलटी होना, अतिसार, लकवा इत्यादि।

 

जल मे अत्यधिक जस्ता (Zinc) से – वृक्क एवं शिराओं का नष्ट होना तथा उलटी आना।

 

जल मे अत्यधिक सीसा (Lead) का होना – मस्तिष्क का छत्तीग्रस्त होना, वृक्क एवं शिराओं का नष्ट होना तथा उलटी आना, अरकता।

 

जल मे अत्यधिक आर्सेनिक (Arsenic) का होना – खुजली, दाद जलन जैसे त्वचा सम्बन्धी रोग।

 

जल मे अत्यधिज फ़्लोराइड (Fluoride) का होना -इसमें अस्थि सम्बन्धी समस्याये होती है, हड्डी का टेढ़ा मेढ़ा होना, दाँत सबंधित रोग,जोड़ो मे दर्द, रीढ़ की हड्डियों मे दर्द।

जीव जंतुओं और वनस्पतियों पर जल प्रदुषण का प्रभाव (Impact of water Pollution on Fauna and Flora In Hindi)

जिस प्रकार से मनुष्य पर जल प्रदुषण का प्रभाव पड़ता है, उससे कहीं अधिक इन जीवों और वनस्पतियों पर पड़ता है।

जल प्रदुषण के कारण समुन्द्र मे रहने वाे अनेक जीव आज विलुप्त हो चुके है या बिलुप्त होने के कगार पर है। व्हेल मछली भी इसी मे शामिल है जो आज इस जीव की संख्या गिनती मे रह गयी है।

कुछ वनस्पतियाँ और पेड़ पौधे ऐसे भी है जो उग ही नहीं पाते क्योंकि उनको आवश्यक पोषक तत्व ही नहीं मिल पाते। इस जल प्रदूषण से दुनिया के सभी जीव जंतु आज परेशान है।

 

जल प्रदूषण परियोजना (Water Pollution in Hindi Project)

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution | Yamuna Project

 

जल प्रदुषण को समझते हुए दिल्ली में यमुना नदी को साफ़ करने और उस पानी का इस्तेमाल करने की परियोजना है। 

भारत की राजधानी दिल्ली में एक योजना के तहत हरियाणा और उत्तर प्रदेश के साथ दिल्ली के घरों से निकलने वाले दूषित जल को आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करके 400 MGD जल का सिंचाई व पार्क आदि में दुबारा इस्तेमाल करने की योजना है। और इन सेहरो में शौचालय के लिए इस्तेमाल होने वाले सेप्टिक टैंकों का इस्तेमाल बिजली बनाने में किया जायेगा 

 

जल प्रदूषण का समाधान (Solution of water pollution in Hindi)

Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution
Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution | solution of water pollution

 

आज हम ने जाना की जल प्रदूषण क्या है हिंदी में (watter pollution in hindi) आईये अब जानते है की इसका निवारण क्या है ( how to stop water pollution in hindi) क्योकि दुनिया में ऐसी कोई समस्या नहीं है जिसका निवारण न हो सके बस समय रहते जरुरी कदम उठा लिए जाये, इससे पहले की बहुत देर हो जाये। 

 

  • जल प्रदुषण की समस्या से निदान पाने के लिए हमें अपने घरो से निकलने ले कूड़ा कचरे जैसे प्रदार्थों को जल में जाने से रोकना होगा। पिने योग्य जल को सुरक्षित रखने के लिए नदी, तालाबों को दीवारों से घेरना होगा ताकि उसमे किसी भी प्रकार का कोई कचरा न जा सके। 
 
  • जो भी नदी या तालाब दूषित है उसे साफ़ नदियों से मिलने से रोकना चाहिए ताकि दूसरी साफ़ नदी प्रदूषित न हो। क्योकि सौ लीटर पानी एक लीटर पानी को साफ़ नहीं बना सकता लेकिन एक लीटर पानी सौ लीटर पानी को गन्दा बना सकता है। 
 
  • नदी तालाबों में पशुओं को नहलाने सो रोकना चाहिए ताकि नदी प्रदूषित न हो। 
 
  • समय समय पर नदी तालाबों की साफ सफाई करते रहना चाहिए ताकि जल को दूषित होने से बचाया जा सके। 
 
  • कल – कारखानों को अपने कचरों को नदी तालाबों में डालने से रोकना चाहिए। कल कारखानों को मापदंड के अनुसार कार्य कारने चाहिए। 
 
  • सिंचाई एव कृषि में रसायनिक दबाइओं जैसे उर्बरक, कीटनाशक दवाओं का प्रयोग कम करना चाहिए। 
 
  • अक्सर नदियों में लोग मल – मूत्र त्यागते है उन्हें ऐसा करने से रोकना चाहिए ताकि नदियों की स्वछता को बरक़रार रख सकें। और जल प्रदुषण से होने वाली बिमारियों से बचा जा सके। 
 

Watch this video for full information on water pollution in English

आज हमने इस पोस्ट में Water Pollution In Hindi | Water Pollution Cause & Solution जल प्रदुषण क्या है? (What is water Pollution In hindi), जल प्रदुषण के क्या कारण है? (What causes of water polution in Hindi)और इसका हम इंसानो और जीवो पर क्या प्रभाव पड़ता है? (Effect of water Pollution on Humans and Animals) जल प्रदुषण का निवारण क्या है? (Solution of water pollution in Hindi) जल प्रदूषण के प्रकार (types of water pollution in hindiWater Pollution Effects on the Environment इन सब सवालों के जवाबों को जाना है। 
 
यदि हमारे इस लेख से आपकी थोड़ी सी भी मदद हुई हो तो कृपया कमेंट जरूर करें। आपके कमेंट से हमारा हौंसला बढ़ता है। मिलते है अगले पोस्ट में 
Share

Leave a Comment