Sukanya Samriddhi Yojana | सुकन्या समृद्धि योजना

Sukanya Samriddhi Yojana In Hindi | PM Kanya Yojana | Sukanya Samriddhi Yojana 2021

Sukanya Samriddhi Yojana (SSY): भारत सरकार ने देश की बेटियों का भविष्य उज्जवल बनाने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुकत की है। ये एक प्रकार की छोटी सी निवेश योजन है। इस योजना से माता पिता अपने बेटी के लिए बचत कर सकते है और उनका भविष्य उज्जवल कर सकते है। इसलिए आज हम आपको Sukanya Samriddhi Yojana 2021 लेख लेकर आये है जिनसे सम्बंधित सभी प्रकार के महत्वपूर्ण जानकारी हम आपको देंगे। इस लेख में आप जानेगे सुकन्या समृद्धि योजना क्या है? इसका उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि।
तो चलिए विस्तार से Sukanya Samriddhi Yojana के बारे में जानते है।

सुकन्या समृद्धि योजना: Sukanya Samriddhi Yojana Details

योजना सुकन्या समृद्धि योजना
इसकी शुरूआतजनवरी, 2015
योजना का ब्याज दर8.5 % (Apr – Jun 2020)
इसमें खाता खुलवाने की आयु0 से 10 साल
इस योजना में खाते में जमा करने की न्यूनतम राशि1000 रुपए (हर महीनें)
बैंक खाते में जमा करने की अधिकतम राशि1.50 लाख रुपए (एक साल के अंदर)
इसमें कौन खुलवा सकता है खाताकन्या के माता-पिता या अभिभावक
ये किसके नाम पर खुलेगा खाताकन्या
इस योजना में खाते की परिपक्वता अवधि21 साल
बैंक से कब निकाल सकते हैं पैसेकन्या के 18 साल के होने पर, कुछ शर्तों के साथ
इसमें कितने खाते खोल सकते हैंअधिकतम दो कन्याओं का (तीन खाते जब दो लड़कियां जुड़वाँ हो)

Sukanya Samriddhi Yojana 2021: सुकन्या समृद्धि योजना 2021

इस सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत हमारे प्रदानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 22 जनवरी 2015 को किया था। इस योजना में माता पिता अपनी बेटी के लिए बचत खाता किसी भी राष्ट्रिय बैंक में या फिर पोस्ट ऑफिस में खुलवा सकते है।
जिस भी माता पिता को अपनी बेटी की शादी की चिंता है वह इस योजना का लाभ ले सकते है, और बेटी का खता खोल सकते है। इस खाते को खोलने के लिए आप न्यूनतम राशि ₹250 तथा अधिकतम राशि 1.5 लाख रुपए जमा कर सकते है।
Sukanya Samriddhi Yojana 2021 में पहले 9.1 प्रतिशत की ब्याज दर थी जो कि अब 8.6 प्रतिशत की ब्याज कर दी गई है।

Beti Bachao Beti Padhao Yojana
Shadi Anudan Yojana UP 

SSY Scheme 2021: Sukanya Samriddhi Yojana Scheme

SSY Scheme यानि सुकन्या समृद्धि योजना 2021 के अंतर्गत खाता खुलने के बाद यह खाता कन्या के 18 साल के होने के बाद या फिर 21 साल के होने के बाद शादी होने तक इस योजना को चलाई जा सकती है |
SSY 2021 में माता पिता अपनी बेटी की आयु 18 वर्ष होने के पश्चात उसकी पढाई के लिए कुल जमा राशि में से 50 % निकल सकते है और बांकी का बेटी के 21 साल के होने के पश्चात् शादी के लिए पूरी जमा धनराशि निकाल सकते है।
इसमें लाभार्थी द्वारा जमा की गयी धनराशि और योजन के द्वारा भुगतान की गयी ब्याज धनराशि भी शामिल होगी |

Purpose of Sukanya Samriddhi Yojana 2021: सुकन्या समृद्धि योजना 2021 का उद्देश्य

सरकार द्वारा इस योजना को आरम्भ करने के पीछे कई उद्देश्य शामिल है जिनमे से निचे दिए गए है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य लड़कियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाना है और विवाह की उम्र होने पर पैसो की कमी से बचाना है।
  • देश में आधी से जायदा आबादी ग्रामीण इलाकों में है जिस कारण लोग अपनी बेटी की शादी का खर्च नहीं जूटा पाते है वो इस योजना के जरिये अपनी बेटी का कन्या दान कर सकते है। जिसमे सर्कार मदद कर रही है। अब बेटियां किसी पर बोझ नहीं होगी।
  • लोग अपनी बेटियों का खाता न्यूनतम 250 रूपये में बैंक में खुलवा सकते है। SSY 2021 योजना से इस देश की लड़कियों को प्रोत्साहन मिलेगा और वह जीवन में आगे बढ़ पायेगी।
  • इस योजना का सबसे बड़ा उद्देश्य है लड़कियों की भ्रूण हत्या को रोकना।

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ (Sukanya Samriddhi Yojana SSA Benefits and Interest Rates In Hindi)

इस Sukanya Samriddhi Yojana में यदि आप अपनी बेटी के लिए निवेश करना चाहते है तो इसकी मुख्य विशेषताओ को जाने।

ब्याज दर : Sukanya Samriddhi Yojana Interest Rates

इस सुकन्या समृद्धि योजना में बैंक द्वारा दी जाने वाली अन्य सभी ब्याज दरों में सबसे ज़्यादा इस योजना में ब्याज दिया गया है। जिसका आप अधिक फायदा उठा सकते है। इस योजना का कोई निश्चित ब्याज दर नहीं है। इसका ब्याज दर मार्केट पर निर्भर करती है, शुरुआत में 2012-2015 में9.1% , 2016- 2017 में यह बढ़ कर 9.2% हो गई। लेकिन धीरे धीरे इसका ब्याज दर कम होता चला गया अभी इसका ब्याज दर 8.5% है।

कर लागत: Sukanya Samriddhi Yojana Tax Free

इस योजना की प्रक्रिया में दो मुख्य बिंदु है पहला यह जो हर साल राशी जमा की जाएगी उसका योग। इस योजना में जो निवेश किया जाएगा वो टैक्स कानून सेक्शन 80C के दायरे मे होगा। इस सुकन्या समृद्धि योजना में जो भी ब्याज दिया जाएगा वो कर रहित होगा किसी प्रकार का कोई टैक्स नहीं लिया जायेगा।

शादी में लाभ : Sukanya Samriddhi Yojana Marriage Benefits

आप इस योजना का लाभ अपनी बेटी की शादी के लिए ले सकते है। क्योकि अभी भी बेटियों को बोझ समझा जाता है जिस कारण उनके साथ भेद भाव होता है। क्योकि उनकी शादी में बहुत पैसे लगते है और कई माता पिता सोचते है हम इसका इंतेज़ाम केस करेंगे। इसलिए अब आपको इस योजना में बहुत लाभ मिलेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए पात्रता: (SSY Eligibility Criteria )


SSY केवल भारतीय नागरिकों के लिए


इस सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ केवल उन बलिकाओ को ही प्राप्त होगा जिनका जन्म भारत मे हुआ है। जो भारत के बहार रहने वाले या एनआरआई है वो इस योजना का लाभ नही ले सकते है.

10 वर्ष से कम आयु की कन्या के लिए :


सुकन्या समृद्धि योजना में यह स्पष्ट है की इसमे निवेश केवल वही माता पिता कर सकते है जिनकी पुत्री संतान की आयु 10 वर्ष से कम है। यानि की 10 वर्ष से एक दिन भी उपर की आयु इस योजना में मान्य नहीं होगी।

आधार कार्ड

इस योजना का लाभ लेने के लिए कन्या का आधार कार्ड जरूरी है।

बेटी और माता पिता की तस्वीर

सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ लेने के लिए कन्या और उसके माता पिता की तस्वीर की आवशयक्ता होगी, जिसे देना जरूरी है।

कन्या जन्म प्रमाण पत्र

कन्या जन्म प्रमाण पत्र इस योजना में देना जरूरी है ताकि आप इसका लाभ ले सकें।

कन्या निवास प्रमाण पत्र

इस Sukanya Samriddhi Yojana का लाभ लेने के लिए आपको कन्या का निवास प्रमाण पत्र की अवस्यकता होगी यदि आपके पास ये दस्तावेज नहीं है तो आप इसे बनवा लें।

माता पिता या जमाकर्ता के दस्तावेज

यदि आप इस योजना के लाभ उठाना चाहते है तो आपको बैंक में अपना पैन कार्ड ,राशन कार्ड ,ड्राइविंग लाइसेंस जमा करना होगा।
तो ये थे कुछ जरूरी दस्तावेज इस योजना के लिए।
Pradhan mantri vaya vandana yojana
NREGA Job Card List

सुकन्या समृद्धि योजना खाता खुलवाने के नियम: Rules for opening Sukanya Samriddhi Yojana account

Sukanya Samriddhi Yojana खाता बेटी के माता-पिता या फिर कानूनी अभिभावकों के द्वारा खुलवाया जा सकता है। इस योजना का लाभ तभी लिया जा सकता है जब बेटी की उम्र 10 साल तक हो। इस योजना में एक बेटी के लिए केवल एक ही खाता खुलवाया जा सकता है।

खाता खुलवाते समय कन्या का बर्थ सर्टिफिकेट पोस्ट ऑफिस या बैंक में जमा करना होगा। इसके अलावा अन्य महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे कि पहचान पत्र तथा पते का प्रमाण भी जमा करना होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना की कुछ महत्वपूर्ण नियम व शर्तें


SSY में निवेश की शर्तें एवं नियम

इसमें खाता खुलवाने की आयु:
सुकन्या समृद्धि योजना में बालिका की 10 वर्ष की आयु होने से पहले अभिभावक द्वारा खोला जा सकता है।

योजना में खाते की संख्या:
इस योजना में एक लड़की के लिए केवल एक ही खाता खोला जा सकता है।

एक परिवार के खाताधारकों की संख्या:
इस योजना में एक परिवार की केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।

यदि जुड़वा बेटियां हो तो खाताधारक की संख्या:
सुकन्या समृद्धि योजना में यदि आपके जुड़वा या ट्रिपलेट बेटियों का जन्म होता है तो उस स्थिति में 2 से अधिक खाते भी खोले जा सकते हैं। इसके लिए आपको उनके जरूरी दस्तावेज बैंक में जमा करवाने होंगे।

कन्या खाते का संचालन:
इस योजना में खाते को खाताधारक की 18 वर्ष की आयु होने तक खाता धारक के अभिभावक द्वारा संचालित किया जाता है।

SSY में न्यूनतम एवं अधिकतम राशि जमा करने के नियम व शर्तें

इसमें खाता खोलने के लिए न्यूनतम राशि:
इस योजना में न्यूनतम 250 रुपए में खाता खोला जा सकता है।
इस योजना में न्यूनतम प्रतिवर्ष निवेश: सुकन्या समृद्धि योजना में प्रत्येक वर्ष लाभार्थी को 250 रुपए का निवेश करना होगा।

डिफॉल्ट की स्थिति होने पर :
इस योजना में यदि खाताधारक प्रतिवर्ष न्यूनतम 250 रुपए का निवेश नहीं किया गया तो खाते को डिफॉल्ट कर दिया जाएगा। एक बार यदि खाता डिफॉल्ट हो गया है तो लाभार्थी को खाते में 250 रुपए की न्यूनतम राशि का भुगतान एवं ₹50 की पेनल्टी का भुगतान के साथ खाते को पुनर्जीवित किया जा सकता है।
अधिकतम निवेश राशि कितनी है :
इस योजना में अधिकतम ₹150000 तक की राशि का निवेश किया जा सकता है।


SSY खाता खोलने के महत्वपूर्ण दस्तावेज: Important Documents to Open SSY Account:

इसमें खाता खोलने के लिए अभिभावक को form-1, और बेटी का जन्म प्रमाण पत्र तथा अभिभावक का पैन कार्ड और आधार नंबर जमा करना जरूरी होगा।

SSY योजना में निवेश करने की अवधि:
SSY योजना में खाता खोलने की तिथि से 15 साल तक इसमें निवेश किया जा सकता है। इस योजना में परिपक्वता, कर लाभ एव ब्याज दरें से संबंधित नियम व शर्तें

SSY योजना में परिपावकता आयु:
इस योजना में खाता खुलने के समय से 21 साल बाद या फिर कन्या के विवाह के समय यिद 18 वर्ष की आयु होगी तो ये परिपक्व हो जाएगा।

इंटरेस्ट रेट कितना है:
इस योजना में सरकार द्वारा हर तिमाही के आधार पर इंटरेस्ट रेट की अधिसूचना जारी की जाएगी। 2021 के जुलाई 2021 से अक्टूबर 2021 के लिए इस योजना के अंतर्गत इंटरेस्ट रेट 7.6% है।
ब्याज राशि कितनी होगी : सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज की राशि वित्तीय वर्ष के अंत में आपके खाते में जमा किया जाएगा।

SSY योजन में कर लाभ:
इस योजना में सेक्शन 80C के अंतर्गत इस योजना को शामिल किया गया है जो निवेश कर मुक्त है।

सुकन्या समृद्धि खाते से पैसे निकालने के नियम व शर्तें: Terms and conditions for withdrawing money from Sukanya Samriddhi Yojana account


निकासी करने की स्थिति क्या है:
योजना के लाभार्थी इस खाते से पिछले वित्तीय वर्ष के अंत में उपलब्ध शेष राशि का अधिकतम 50% तक निकासी कर सकता है। किन्तु यह निकासी केवल कन्या की शिक्षा के लिए की जा सकती है।

निकासी करने के लिए आयु क्या होगी :
आप इसकी निकासी केवल बालिका की 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर या फिर दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद कर सकते है।

निकासी के प्रकार क्या है :
इस योजना में खाते से निकासी एक साथ की जा सकती है या फिर किस्तों में भी निकासी की जा सकती है।

कैलक्यूलेटर : (Sukanya Samriddhi Yojana Calculator)

  • आप SSA केलक्यूलेटर का इस्तेमाल कर सकते है जिससे आपको इसके व्याज आदि की गणना बड़ी ही आसानी से कर सकते है वो भी बिना किसी गलती है।
  • आप इसका इस्तेमाल जमा की गई राशी के कार्यकाल पूर्ण होने और परिपक्व होने पर प्राप्त राशि की गणना कर सकते है।
  • इसे आप एक्सेलशीट मे जा कर फार्मूला के जरिये जमा की गई राशी डाल कर परिणाम या रिजल्ट पर क्लिक करके इसमे मासिक और वार्षिक दोनो तरह से गणना कर सकते है।

इसे भी पढ़े – 

e-RUPI Digital Payment 2021

सुकन्या समृद्धि योजना लोन: Sukanya Samriddhi Yojana Loan

इस योजना में अन्य पीपीएफ योजना के जैसे लोन नहीं प्राप्त किया जा सकता है। लेकिन हाँ यदि बेटी 18 वर्ष की हो गई है तो खाते से अभिभावकों द्वारा निकासी की जा सकती है। लेकिन यह निकासी केवल 50% की जा सकती है, और वो भी ये निकासी बालिकाओं की बेहतरी के लिए की जा सकती है। इस योजना की राशि को बालिका की शादी, उच्च शिक्षा आदि के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर: Sukanya Samriddhi Yojana Account Transfer


सुकन्या समृद्धि योजना में खाता ट्रांसफर की सुविधा दी गयी है जिसे एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में या फिर एक बैंक से दूसरे बैंक में अकाउंट को ट्रांसफर किया जा सकता है।
अकाउंट को ट्रांसफर करने की पूरी प्रक्रिया निचे दी गयी है –
  • खाता ट्रांसफर करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी अपडेटेड पासबुक और केवाईसी दस्तावेजों को लेकर डाकघर में या फिर बैंक में जाना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने बैंक एवं पोस्ट ऑफिस को इस बात की सूचना देनी होगी कि आपको अपना खाता ट्रांसफर करना है।
  • जब आप ये सूचना अपने बैंक को देंगे उसके बाद मैनेजर आपका खाता पुरानी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में बंद कर देगा और ट्रांसफर रिक्वेस्ट आपको दे देगा।
  • इसके बाद इस ट्रांसफर रिक्वेस्ट को लेकर नए पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में जाना होगा और वहां पर यह सभी दस्तावेज जमा करने होंगे।
  • आपको अपना पहचान एवं पते के प्रमाण के लिए आपको केवाईसी दस्तावेजों को भी जमा करना होगा।
  • इसके बाद बैंक या पोस्ट ऑफिस आपको एक नई पासबुक देगी जिसमें आपकी शेष राशि प्रदर्शित होगी।
    और फिर आप अपने इस नया अकाउंट से सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट का संचालन अच्छी तरह से कर सकते हैं।

Sukanya Samriddhi Yojana Post Office: सुकन्या समृद्धि योजना डाकघर

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) बालिकाओं के लाभ के लिए केंद्र सरकार द्वारा समर्थित एक छोटी बचत योजना है। यह SSY योजना बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना का एक हिस्सा है और खाते को 10 साल से कम उम्र की लड़की के माता-पिता द्वारा खोला जा सकता है। इसे लिस्ट में नामित बैंकों या डाकघरों में खोला जा सकता है।

Sukanya Samriddhi Yojana SBI: सुकन्या समृद्धि योजना एसबीआई

Leave a Reply

%d bloggers like this: